1st grade Geography syllabus pdf 2023. फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस इन हिन्दी।

RPSC 1st grade geography syllabus in Hindi:राजस्थान में जल्द ही आरपीएससी के द्वारा फर्स्ट ग्रेड स्कूल लेक्चरर के लिए भर्ती की जा रही है। आरपीएससी द्वारा 6000 फर्स्ट ग्रेड लेक्चरर के पदों का नोटिफिकेशन जारी किया गया था जिनके लिए में प्रतियोगी परीक्षा का आयोजन किया जाना है।

फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस PDF 2023 इन हिंदी

राजस्थान फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस यहां पर हिंदी में परीक्षार्थियों की तैयारी के लिए प्रस्तुत है। यदि आप भूगोल विषय से पोस्ट ग्रेजुएशन और b.ed अर्थात शिक्षक प्रशिक्षण में डिग्री प्राप्त की है तथा 1st ग्रेड फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी इन हिंदी की परीक्षा देने जा रहे हैं तो RPSC 1st grade geography pdf syllabus यहां पर हिंदी में पढ़िए।

फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस pdf इन हिंदी 2023

राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित RPSC 1st grade geography pdf syllabus का पूरा एग्जाम पैटर्न और सिलेबस आप यहां पर देख सकते हैं। हालांकि यह पूरा फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस अंग्रेजी में अपलोड किया गया है परंतु आप यहां पर उसका हिंदी अनुवाद अंग्रेजी वर्जन के साथ ही देख सकते हैं।

राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा 1st ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस हिंदी में भूगोल का सिलेबस यहां पर जारी किया गया है जिसको आप हिंदी में पढ़ सकते हैं और देख सकते हैं।

फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी लेक्चरर के लिए योग्यता

  • किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन किया हुआ हो
  • शिक्षक प्रशिक्षण डिप्लोमा जैसे b.ed उत्तीर्ण अभ्यर्थी
  • ज्योग्राफी भूगोल विषय में एमएससी अर्थात पोस्ट ग्रेजुएशन किया हुआ हो
  • ज्योग्राफी विषय में उच्चतर योग्यता जैसे एमफिल या पीएचडी उत्तीर्ण अभ्यर्थी (वैकल्पिक)

आरपीएससी फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस इन हिंदी। फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस हिंदी में। फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी स्कूल लेक्चरर सिलेबस हिंदी में। फर्स्ट ग्रेड लेक्चरर सिलेबस ज्योग्राफी हिंदी। भूगोल विषय का पाठ्यक्रम हिंदी में। फर्स्ट ग्रेड भूगोल विषय का पाठ्यक्रम हिंदी में अनुवाद सहित।

1st grade geography syllabus

राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा 1st grade Geography Syllabus 2023 हालांकि अंग्रेजी में जारी किया गया है परंतु आप यहां पर उसका हिंदी अनुवाद पढ़ सकते हो और उसके अनुसार तैयारी कर सकते हैं। आरपीएससी फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस के साथ-साथ एग्जाम पैटर्न और परीक्षा में आने वाले संभावित प्रश्नों के बारे में भी यहां पर विस्तार से दिया गया है। फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी के पेपर में सामान्य ज्ञान के अलावा ज्योग्राफी विषय से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे जो सीनियर सेकेंडरी और ग्रेजुएशन लेवल के अलावा पोस्ट ग्रेजुएशन के प्रश्न पूछे जाएंगे। आप इसके अनुसार तैयारी कर सकते हैं।

फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस हिंदी में।

राजस्थान लोक सेवा आयोग आरपीएससी द्वारा आयोजित first grade Rajasthan ग्रेड ज्योग्राफी विषय के प्रश्न पत्र में निम्न प्रकार से सिलेबस को डिवाइड किया गया है।

फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी के सिलेबस में कुल 150 प्रश्न होंगे। प्रत्येक प्रश्न दो अंक का होगा और पूरा प्रश्न पत्र कुल 300 अंकों का होगा। प्रश्न पत्र की समय अवधि 3 घंटे होगी। प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2 अंक दिए जाएंगे परंतु यदि आप गलत जवाब देते हैं तो प्राप्त सही अंकों में से प्रत्येक गलत प्रश्न का वन थर्ड काट लिया जाएगा।

राजस्थान फर्स्ट ग्रेड जियोग्राफी के विषय को अलग-अलग भागों में बांटा गया है। हमने यहां पर भूगोल विषय के सिलेबस को पूर्णत: अपडेट किया है. और प्रत्येक बिंदु को टॉपिक बार विभाजित किया है। राजस्थान फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी टीचर के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी इन टॉपिक वाइज अनुसार अपनी तैयारी करें और यदि आपको फिर भी कंफ्यूज हो तो आप आरपीएससी राजस्थान लोक सेवा आयोग की वेबसाइट पर जा रही है सिलेबस चेक कर सकते हैं।

1st grade Geography Syllabus senior secondary Level

सीनियर सेकेंडरी स्तर ज्योग्राफी सिलेबस के इस भाग में से कुल 55 प्रश्न पूछे जाएंगे। अर्थात कुल 110 अंक के प्रश्न इसमें से पूछे जाएंगे। यहां आपको प्रश्नों का स्तर और प्रश्न संख्या बताई गई है परंतु इसका मतलब यह नहीं है कि सभी प्रश्न हायर सेकेंडरी स्कूल की किसी किताब से पूछे जाएंगे।

यहां प्रश्न संख्या और अंक भार बताया गया है, अच्छा होगा कि आप सभी पुस्तकों का विस्तार से अध्ययन करें और स्कूल पाठ्यक्रम में निर्धारित किसी भी टॉपिक या छोटे से महत्वपूर्ण बिंदु को ना छोड़े।

1st grade Geography Syllabus Graduation Level

इस भाग में भी ज्योग्राफी ग्रेजुएशन स्तर के कुल 55 प्रश्न पूछे जाएंगे जिनका अंक भार 110 होगा। आप किसी एक यूनिवर्सिटी या कॉलेज के द्वारा निर्धारित पाठ्यक्रम को पढ़ने के बजाय इसमें सम्यक और तथ्यात्मक अध्ययन करें।

1st grade Geography post-graduation Level

पोस्ट ग्रेजुएशन अर्थात MSc geography स्तर के कुल 10 प्रश्न पूछे जाएंगे। हालांकि पोस्ट ग्रेजुएशन स्तर का पाठ्यक्रम स्नातक में ही कवर कर लिया जाता है इसलिए इसके कुल मात्र 10 प्रश्न और 20 अंक रखे गए हैं।

शैक्षिक मनोविज्ञान, शिक्षा शास्त्र एंड टीचिंग लर्निंग मटरियल

1st grade Geography Syllabus में शिक्षा मनोविज्ञान और विभिन्न शिक्षण विधियों तथा कंप्यूटर एवं स्कूल लैब (ICT) संबंधित ज्ञान के बारे में कुल 30 प्रश्न पूछे जाएंगे जो कि कुल 60 नंबर के होंगे।

फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस सीनियर सेकेंडरी लेवल

Knowledge of Subject concerned : Senior Secondary Level

  • पृथ्वी का आंतरिक भाग, चट्टानें, भूकंप और ज्वालामुखी, प्लेट विवर्तनिकी, कार्यहवा, बहता पानी, ग्लेशियर(।nterior of earth, rocks, earthquakes and Volcanoes, Plate techtonics, work of wind, running waters,
    Glaciers)
  • वायुमंडल की संरचना और संरचना,(Structure and Composition of Atmosphere),सूर्यातप और ताप बजट,नमी और वर्षा। (Insolation and Heat budget,Humidity and Precipitation.
  • महासागरों की राहत विशेषताएं, लवणता, ज्वार और महासागरीय धाराएँ।(Relief features of the Oceans, salinity, tides and ocean currents.)
  • भारत(INDIA) स्थान, भौगोलिक विभाजन, जलवायु, वनस्पति, मिट्टी(India- Location, physiographic divisions, climate, vegetation, soils) जनसंख्या: वितरण और घनत्व और विकास।(Population: distribution and density and growth. ) आपदा प्रबंधन: बाढ़, सूखा, भूस्खलन।(Disaster management: flood, draught) प्रमुख फसलें, खनिज, लोहा और इस्पात उद्योग, कपास और वस्त्र उद्योग(Major crops, Minerals, Iron and Steel Industry, Cotton and Textile Industry)। पर्यावरण प्रदूषण, सतत विकास(Environment Pollution, sustainable development)।
  • मानव भूगोल(Human Geography)- परिभाषा, कार्यक्षेत्र और सिद्धांत(Definition, scope and principles) मुख्यत: गौण, तृतीयक और चतुर्धातुक गतिविधियाँ(Primary, secondary, tertiary and quaternary activities.) परिवहन संचार और व्यापार। विश्व जनसंख्या का वितरण, घनत्व और वृद्धि। मानव विकास की अवधारणा(density and growth of World Population. Human development concept)
  • तराजू, मानचित्र और अनुमान, स्थानिक सूचना प्रौद्योगिकी, माध्य, माध्यिका,मोड, मानक विचलन, सहसंबंध, समतल तालिका सर्वेक्षण।Scales, Maps and Projections, Spatial information technology, Mean, Median, Mode, Standard Deviation, Correlation, Plane table survey.

फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस ग्रेजुएशन लेवल

rpsc 1st grade Geography graduation Level के सिलेबस से निम्न बिन्दुओं से प्रश्न पूछे जाएंगे अंत: इन टोपिक्स का गहनता से अध्ययन करना आवश्यक है।

  • भौतिक भूगोल:

आइसोस्टैसी, पृथ्वी की गति, तापमान का व्युत्क्रम,
दबाव बेल्ट और पवन परिसंचरण।विश्व की जलवायु का वर्गीकरण:कोप्पेन, थॉर्नवेट। महासागरीय निक्षेप। प्रवाल भित्तियों और प्रवाल द्वीपों का निर्माण।
(Physical Geography: Isostasy, Earth movements, Inversion of
Temperature, pressure belts and wind circulation. Classification of
climates of the world: Koppen’s, Thornwait. Ocean deposits. Formation of
Coral Reefs and Atolls.)

  • मानव भूगोल:Human Geography:

मानव भूगोल विचारधारा में आधुनिक स्कूल: संभावनावाद, नियतिवाद, नव-नियतिवाद। प्रवासन इसके कारण और प्रकार। विश्व की जातियों का वर्गीकरण और वितरण

Modern school of thought in Human Geography-
possibilism, determinism, neo-determinism. Migration its causes and
types. Classification and Distribution of important races of the world

  • आर्थिक भूगोल: प्राकृतिक संसाधन और उनका वितरण। दुनिया के कृषि क्षेत्र। विश्व के औद्योगिक क्षेत्र।

Economic Geography: Natural resources and their distribution.Agricultural regions of the world. Industrial regions of the world.

  • विचार का भूगोल: भूगोल की परिभाषा, कार्यक्षेत्र, प्रकृति और उद्देश्य,
  • ग्रीक भूगोलवेत्ताओं, रोमन भूगोलवेत्ताओं का योगदान।
  • हम्बोल्ट ,रिटर,रत्ज़ेल, हार्टशोर्न, हंटिंगटन, ब्लाचे और कार्ल सौर के कार्य।

Geography of Thought: Definition, scope, nature and purpose of Geography, contribution of Greek Geographers, Roman Geographers.Works of Humboldt, Ritter, Ratzel, Hartshorne, Huntington, Blache and Carl Saur.

राजस्थान ज्योग्राफी सिलेबस (Rajasthan Geography Syllabus)

राजस्थान: फिजियोग्राफी, ड्रेनेज, जलवायु, वनस्पति, मिट्टी, सिंचाई। प्रमुख फसलें, मुख्य खनिज, प्रमुख उद्योग। जनसंख्या वितरण और घनत्व। मरुस्थलीकरण, कृषि-जलवायु क्षेत्र।

Rajasthan: Physiography, Drainage, climate, vegetation, soils, irrigation. Major crops, chief minerals, major Industries. Population distribution and density.Desertification, Agro-climate regions.

ज्योग्राफी सिलेबस पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल

  • व्यवहार भूगोल। भूगोल में हाल के रुझान। भारत में भूगोल का विकास।
  • भू-आकृति विज्ञान(Geomorphology)-मौलिक अवधारणाएं, ढलान विकास।भू-आकृति मानचित्रण एप्लीकेशन। पर्यावरण भू-आकृति विज्ञान।
  • आर्थिक भूगोल- प्लांट लोकेशन के सिद्धांत: वेबर का न्यूनतम लागत सिद्धांत।
  • भारत के आर्थिक क्षेत्र।
  • शहरी भूगोल- प्राचीन, मध्यकालीन और आधुनिक काल में नगरों की उत्पत्ति और विकास।उमलैंड, नगर नियोजन के सिद्धांत।
  • कृषि भूगोल- वॉन थुनेन का कृषि स्थान सिद्धांत।
  • भारत में हरित क्रांति। भारत में कृषि-वानिकी का महत्व और इसका दायरा।
  • जनसंख्या भूगोल- जनसंख्या के सिद्धांत: माल्थुसियन और optimum
  • भारत सरकार की जनसंख्या नीति।
  • राजनीतिक भूगोल- राजनीतिक भूगोल का विकास।
  • मैकिंडर की अवधारणाएं।
  • राजनीतिक भूगोल का एकीकृत क्षेत्र सिद्धांत एस.बी. जोन्स।
  • सीमांत सीमाएं और बफर जोन

1.Geography of Thought- Behavioural geography.Recent trends in geography. Development of geography in India.
2.Geomorphology- Fundamental concepts, slope evolution. Application of Geomorphic mapping. Environmental Geomorphology.
3.Economic Geography- Theories of Plant location: Weber’s Least Cost
theory. Economic regions of India.
4. Urban Geography- Origin and growth of Towns in Ancient Medieval and
Modern period. Umland principles of Town Planning.
5.Agricultural Geography- Von Thunen’s Agricultural Location theory. Green
revolution in India. Agro-forestry importance and its scope in India.
6.Population Geography- Theories of Population: Malthusian and optimum.
The population policy of Government of India.
7.Political Geography- Development of Political Geography. Concepts of
Mackinder. The Unified field theory of Political Geography by B.S. Jones.
Frontiers Boundaries and Buffer zones.

आरपीएससी द्वारा फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी के पेपर में शिक्षण क्षमता एवं शिक्षक अभिरुचि से भी प्रश्न पूछे जाते हैं।

  1. शैक्षिक मनोविज्ञान ,शैक्षिक मनोविज्ञान की अवधारणा, कार्यक्षेत्र और कार्य(Educational Psychology :Concept, scope and functions of educational psychology)
  2. किशोर शिक्षार्थी की शारीरिक, संज्ञानात्मक, सामाजिक, भावनात्मक और नैतिक विकासात्मक विशेषताएं और शिक्षण-अधिगम के लिए इसके निहितार्थ।(Physical, cognitive, social, emotional and moral developmental characteristics of adolescent learner and its implication for teaching-learning)
  3. वरिष्ठ माध्यमिक छात्रों के लिए सीखने के व्यावहारिक, संज्ञानात्मक और रचनावादी सिद्धांत और इसके निहितार्थ(Behavioural, cognitive and constructivist principles of learning and its implication for senior secondary students)
  4. मानसिक स्वास्थ्य और समायोजन और समायोजन तंत्र की अवधारणा(Concept of mental health & adjustment and adjustment mechanism)
  5. भावनात्मक बुद्धिमत्ता और शिक्षण और अधिगम में इसका प्रभाव( Emotional intelligence and its implication in teaching learning)

Pedagogy and Teaching Learning Material किशोर शिक्षार्थी के लिए निर्देशात्मक रणनीतियाँ

  • संचार कौशल और इसका उपयोग।
  • शिक्षण मॉडल- अग्रिम आयोजक, अवधारणा प्राप्ति, सूचना प्रसंस्करण, पूछताछ प्रशिक्षण।
  • शिक्षण के दौरान शिक्षण-अधिगम सामग्री तैयार करना और उसका उपयोग करना।
  • सहकारी शिक्षा।

Communication skills and its use.
Teaching models- advance organizer, concept attainment, information processing,
inquiry training.
Preparation and use of teaching-learning material during teaching.
Cooperative learning.

Use of Computers and Information Technology in Teaching Learning

आईसीटी, हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की अवधारणा।सिस्टम दृष्टिकोण।कंप्यूटर असिस्टेड लर्निंग, कंप्यूटर एडेड इंस्ट्रक्शन

Concept of ICT, hardware and software. System approach. Computer assisted learning, computer aided instruction

फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस। फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस हिंदी में। स्कूल लेक्चरर फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस हिंदी में।

यहां पर आपको 1st ग्रेड स्कूल लेक्चरर ज्योग्राफी का सिलेबस हिंदी भाषा में दिया गया है। इसे आप अच्छी तरह से पढ़ लें और उसके अनुसार तैयारी करें। आरपीएससी फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस।

आरपीएससी द्वारा RPSC 1st grade geography pdf syllabus वेबसाइट पर उपलब्ध है। हालांकि यह अंग्रेजी में है और उसे आप डाउनलोड कर सकते हैं। आरपीएससी का नया 2022 का सिलेबस हमने यहां पर राजस्थान लोक सेवा आयोग की वेबसाइट से लेकर ही उसका अनुवाद प्रस्तुत किया है फिर भी यदि आप फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस pdf का मूल देखना चाहते हैं तो वेबसाइट पर विजिट करें।

यह फर्स्ट ग्रेड ग्रेड ज्योग्राफी सिलेबस फर्स्ट ग्रेड की वैकेंसी आने के अनुसार अपडेट किया जाएगा इसलिए समय-समय पर आप यहां पर यह सिलेबस देखते रहे।

RPSC 1st grade Geography teacher बनने के लिए क्या आवश्यक है?

ज्योग्राफी टीचर बनने के लिए पोस्ट ग्रेजुएशन विषय ज्योग्राफी विषय और b.ed किया हुआ होना अनिवार्य है।

राजस्थान में भूगोल या ज्योग्राफी टीचर बनने के लिए क्या योग्यता है?

ज्योग्राफी का भूगोल विषय से फर्स्ट ग्रेड टीचर बनने के लिए ज्योग्राफी विषय से पोस्ट ग्रेजुएशन करने के साथ-साथ b.ed करना आवश्यक है।

ज्योग्राफी टीचर बनने के लिए कौन सा एग्जाम देना पड़ता है

ज्योग्राफी का भूगोल विषय से फर्स्ट ग्रेड टीचर बनने के लिए आरपीएससी द्वारा आयोजित कंपटीशन एग्जाम में मेरिट में स्थान प्राप्त करना आवश्यक है।

ज्योग्राफी टीचर बनने के लिए आवश्यक योग्यता क्या है

ज्योग्राफी टीचर बनने के लिए आपको भूगोल विषय में पोस्ट ग्रेजुएशन करना आवश्यक है।तथा साथ में बीएड पाठ्यक्रम उत्तीर्ण करना भी आवश्यक है।

यदि मेरे स्नातक विषय में भूगोल विषय नहीं है तो क्या मैं ज्योग्राफी में एमएससी कर सकता हूं

यदि आपने नए नियम आने से पहले ज्योग्राफी में पोस्ट ग्रेजुएशन कर लिया है तो आप फर्स्ट ग्रेड लेक्चरर के लिए योग्य हैं।

फर्स्ट ग्रेड ज्योग्राफी लेक्चरर के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी आवश्यक योग्यता या अन्य किसी भी प्रकार के प्रश्न से जूझ रहे हैं तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में आवेदन करें हम आपकी समस्याओं का हल करेंगे धन्यवाद।

भूगोल टीचर कैसे बने


Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *