Jee Mans kya hai? जेईई मेंस परीक्षा योग्यता परसेंटाइल कैसे प्राप्त करें।

जेईई मेन परीक्षा

आज हम जेईई मेन परीक्षा 2023 की विस्तृत जानकारी इस लेख में प्राप्त करेंगे।यह JEE Mains परीक्षा क्या है और कौन इस परीक्षा में सम्मिलित हो सकता है तथा जेईई मेन्स क्या है और जेईई मेंस 2023 की परीक्षा से किस तरह आप आईआईटी और विभिन्न इंजीनियरिंग संस्थानों में कैसे प्रवेश ले सकते हैं,के विषय में संपूर्ण जानकारी आप इस लेख में प्राप्त करेंगे।

Jee Main Kya hai.Jee Main Exam in Hindi. JEE mains eligibility. JEE Main exam scheme and exam pattern. जेईई मेन क्या होता है जेईई मेन्स परीक्षा पात्रता। जेईई मेन परीक्षा की संपूर्ण जानकारी।

जेईई मेन्स परीक्षा अब NTA द्वारा साल में चार बार आयोजित की जाएगी तथा इसके लिए आवेदन करने वाला व्यक्ति प्रत्येक परीक्षा में सम्मिलित हो सकता है।

REET EXAM kya hai. रीट एग्जाम पात्रता और परीक्षा पैटर्न की पूरी जानकारी

Jee Mains परीक्षा के चारों अवसरों के लिए एक ही बार आवेदन करने की आवश्यकता होगी। फिर अभ्यर्थी चारों अवसरों में सम्मिलित हो सकता है। जेईई मेंस प्रवेश के लिए अभ्यर्थी के उस स्कोर को माना जाएगा जो उच्चतम हो।

Jee Mains Kya hai (जेईई मेन्स परीक्षा क्या है)

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी(NTA) द्वारा वर्ष में चार बार लिया जाने वाला जेईई मेंस इंजीनियरिंग कॉलेजों में उपलब्ध आईआईटी और इंजीनियरिंग सीटों पर प्रवेश देने के लिए योग्य अभ्यर्थियों का चयन करने के लिए आयोजित की जाने वाली प्रवेश परीक्षा है।

NTA राष्ट्रीय स्वायत्त, स्वतंत्र परीक्षण एजेंसी है जो उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश के लिए परीक्षा का आयोजन करता है और योग्य अभ्यर्थियों का चयन करता है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा राष्ट्रीय स्तर के इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश के लिए जेईई मेंस प्रवेश परीक्षा का प्रतिवर्ष आयोजन किया जाता है।

Jee (Mains) परीक्षा का Full Form है-The Joint Entrance Examination (JEE Main). जेईई मेन संयुक्त मुख्य परीक्षा जो देशभर के समस्त इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है। संयुक्त प्रवेश परीक्षा जेईई मेंस में निम्न प्रश्न-पत्र का आयोजन किया जाता है।

  • Jee Mains Paper 1(for B.E./ B.Tech.)
  • Paper 2A(B.Arch.)
  • Paper 2B(B.(planning)

कक्षा 12 या समकक्ष में 75% अंक प्राप्त एवं जेईई मुख्य परीक्षा में प्रथम 20 परसेंटाइल अंक प्राप्त करने वाले अभ्यर्थी जेईई एडवांस की परीक्षा में शामिल होते हैं जिसमें उच्च रैंक प्राप्त अभ्यर्थी आईआईटी के लिए योग्य होते हैं।

जेईई मेन के फर्स्ट पेपर का आयोजन राष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (NIITs),IITs, अन्य केंद्र शासित तकनीकी संस्थानों(CFTIs), राज्य सरकारों के द्वारा मान्यता प्राप्त/वित्त पोषित संस्थानों में B.Tec. एवं B.E. कोर्स में प्रवेश के लिए, Jee advance (IIT में प्रवेश लेने वाले की अभ्यर्थियों की प्रवेश परीक्षा) परीक्षा की पात्रता के रूप में आयोजित किया जाता है। डॉक्टर अब्दुल कलाम यूनिवर्सिटी उत्तर प्रदेश (UPSEE) में भी इस बार जेईई मेंस से ही प्रवेश होंगे।

जेईई मेन पेपर 2 का आयोजन देश में B.Arch. और B. Planning पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए किया जाता है। इस वर्ष से डॉ. ए.पी.जे.अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (AKTU), लखनऊ भी राज्य भर के अपने संबद्ध कॉलेजों में B.Tech / M.Tech (Integrated)/B.Arch. पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए Jee Mains 2021 की स्कोर सीट का उपयोग करेगा।

इस बार इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए JEE Mains 2021 प्रवेश परीक्षा का कई सत्रों में आयोजन किया जाएगा। यह क्रमशः चार सत्रों में प्रस्तावित है, पहला सत्र फरवरी, दूसरा सत्र मार्च, तीसरा सत्र अप्रैल और चौथा सत्र मई माह में प्रस्तावित है।

जेईई मेन क्या है

जेईई मेन परीक्षा 2023 को कई सत्रों में आयोजित करने से विद्यार्थियों को निम्नलिखित लाभ होंगे-

  1. विद्यार्थी को परीक्षा में बैठने के अधिक अवसर प्राप्त होंगे।
  2. विद्यार्थी अपने स्कोर में वृद्धि कर सकेंगे। यदि पहले के प्रयास में कम अंक प्राप्त होते हैं तो अगले प्रयास में अपना स्कोर increase कर सकेंगे।
  3. पहले प्रयास से उन्हें अपनी तैयारी एवं त्रुटियों का पता चलेगा जिससे अगले प्रयास में बेहतर तैयारी के साथ और अनुभव से अच्छा स्कोर प्राप्त करने में सफल होंगे।
  4. कम प्रयासों में अभ्यर्थी को अगले वर्ष तक इंतजार करना पड़ता था, अब अधिक सत्र होने से अधिक अवसर होंगे और विद्यार्थी का 1 साल ड्रॉप नहीं होगा।
  5. यदि कोई अभ्यर्थी बोर्ड एग्जाम आदि किसी कारण से किसी अवसर में सम्मिलित नहीं हो पाता है तो अगले अवसर में सम्मिलित होने से उसका 1 साल बचेगा।
  6. जरूरी नहीं कि कोई उम्मीदवार सभी सत्रों में उपस्थित हो, हालांकि वह चाहे तो एक या एक से अधिक सत्रों में परीक्षा दे सकता है। मेरिट या रैंकिंग निर्धारण के लिए उसका उच्चतम NTA Score को लिया जाएगा।

इस तरह से 4 सत्रों के अधिक अवसर होने से विद्यार्थी अपनी तैयारी और प्रैक्टिस से अधिकतम स्कोर प्राप्त करने में सफल होगा। अच्छी तैयारी होने के बाद भी अनुभवहीन होने के कारण जो दुविधा विद्यार्थियों को होती थी, वह अवसर बढ़ाने से दूर हो जाएगी।

जेईई मेन योग्यता

जेईई मेंस प्रवेश परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए उम्मीदवार के पास निर्धारित योग्यता और इस परीक्षा के लिए पात्रता मानदंड पूरे होने आवश्यक हैं।

जेईई मेन परीक्षा के लिए उम्मीदवार साइंस सब्जेक्ट से कक्षा 12 उत्तीर्ण अथवा अध्ययनरत होना चाहिए। साथ ही कक्षा 12 में न्यूनतम 75% अंक होना अनिवार्य है परंतु जेईई मेंस 2023 की परीक्षा के लिए निर्धारित अंक प्रतिशत की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है।

JEE Mains परीक्षा कोई भी उम्मीदवार 3 साल तक दे सकता है, इस हिसाब से जेईई मेंस 2023 की परीक्षा में निम्न उम्मीदवार सम्मिलित हो सकते हैं-

  1. सत्र 2020 की परीक्षा में 12th उत्तीर्ण अभ्यर्थी।
  2. सत्र 2022 की 12th उत्तीर्ण अभ्यर्थी
  3. इस वर्ष सत्र 2023 की 12th परीक्षा में सम्मिलित होने वाले अभ्यर्थी।
  4. परीक्षा के लिए कोई निर्धारित आयु सीमा नहीं है और उपरोक्त पात्रता वाले अभ्यर्थी परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं परंतु जिस संस्थान में उम्मीदवार प्रवेश लेंगे उसके मापदंडों को पूर्ण करना आवश्यक है।

Jee Mains Eligibility in Hindi(जेईई मेंस परीक्षा पात्रता)

जेईई मेंस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए उम्मीदवार के पास निम्न में से कोई एक योग्यता होना अनिवार्य है।

  • मान्यता प्राप्त किसी केंद्रीय या राज्य बोर्ड द्वारा संचालित 10+2 प्रणाली की अंतिम परीक्षा। जैसे, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE, New Delhi); इंडियन स्कूल काउंसिल सर्टिफिकेट परीक्षा, नई दिल्ली।
  • किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से इंटरमीडिएट या दो वर्षीय प्री यूनिवर्सिटी(Pre- University) परीक्षा।
  • राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (NDA) की संयुक्त सेवा विंग के पाठ्यक्रम की 2 वर्षीय अंतिम परीक्षा।
  • राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान (NIOS) द्वारा आयोजित सीनियर सेकेंडरी परीक्षा न्यूनतम पांच विषयों के साथ उत्तीर्ण की हो।
  • भारत या विदेश में स्थित किसी भी पब्लिक स्कूल/बोर्ड या विश्वविद्यालय से 10+2 जो भारतीय विश्वविद्यालय संघ(AIU) के द्वारा 10+2 के समकक्ष मान्यता प्राप्त हो।
  • व्यावसायिक परीक्षा(vocational examination) में उच्चतर माध्यमिक प्रमाणपत्र
  • एआईसीटीई(AICTE) द्वारा मान्यता प्राप्त डिप्लोमा, या राज्य के तकनीकी शिक्षा बोर्ड से 3 वर्ष की अवधि का डिप्लोमा।
  • जनरल सर्टिफिकेट एजुकेशन (GCE) परीक्षा (लंदन / कैंब्रिज / श्रीलंका) में उन्नत (A level) स्तर।
  • कैंब्रिज यूनिवर्सिटी का हाई स्कूल सर्टिफिकेट या अंतरराष्ट्रीय स्तर का डिप्लोमा।

जेईई मेंस के लिए ऊपर वर्णित की गई योग्यताएं निर्धारित हैं। इन सब का विवेचन हमने इसलिए किया है क्योंकि हमारे पास डिफेंस सर्विस और विदेशों में कार्यरत अभ्यर्थी जो इस में भाग लेना चाहते हैं उन के बहुत सारे सवाल आते हैं।

इसलिए ऐसे पात्र अभ्यर्थी अपनी योग्यता की स्वयं जांच कर लें।

वैसे इस जूनियर इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा के लिए 12वीं क्लास साइंस स्ट्रीम से और फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ वाले अभ्यर्थियों को आवेदन करने के लिए इतनी सारी योग्यताएं जानना जरूरी नहीं है।

पात्रता का राज्य कोड (state eligibility)

JEE Mains के आवेदन फॉर्म में पात्रता का राज्य कोड भरना होता है। यह State Eligibility कोड उम्मीदवार द्वारा जहां से पात्रता परीक्षा Class XII या समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण की है, उस राज्य का कोड है। एनटीए द्वारा जारी जेईई मेंस विस्तृत विज्ञापन में सभी राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों आदि के कोड दिए गए हैं।

Math Teacher (गणित अध्यापक) कैसे बने पूरी जानकारी

पात्रता के कोड से मतलब उम्मीदवार के मूल निवास स्थान से संबंधित नहीं है। यह कोड उस स्थान का होगा जहां से उम्मीदवार ने जेईई मेंस के लिए पात्रता परीक्षा उत्तरण की है। जैसे यदि कोई उम्मीदवार राजस्थान का निवासी है परंतु उसने कक्षा 12 दिल्ली बोर्ड से उत्तीर्ण की है तो, उसकी पात्रता का कोड दिल्ली होगा।

योग्यता परीक्षा में उपस्थिति(appearance) का वर्ष

किसी भी राज्य के मान्यता प्राप्त स्टेट बोर्ड/केंद्रीय मान्यता प्राप्त बोर्ड से सीनियर सेकेंडरी विज्ञान वर्ग के पात्र अभ्यर्थी इस परीक्षा में बैठ सकते हैं।केवल वे उम्मीदवार जिन्होंने 2019, 2020 या 2021 में कक्षा 12 / समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण की है; या जो कक्षा 12 या समकक्ष परीक्षा 2021 में उपस्थित हो रहे हैं, वे जेईई (मुख्य) 2021 में उपस्थित होने के पात्र हैं।

ऐसे अभ्यर्थी जिन्होंने कक्षा 12 या समकक्ष परीक्षा वर्ष 2018 में या उससे पूर्व के वर्षों में उत्तीर्ण की है या जो अभ्यर्थी वर्ष 2022 में इस परीक्षा में बैठने के पात्र होंगे, वे जेईई मुख्य परीक्षा 2021 में बैठने के लिए पात्र नहीं होंगे। अर्थात इस वर्ष कक्षा 11 में अध्ययनरत विद्यार्थी परीक्षा में बैठने के लिए योग्य नहीं है।

जेईई मेन उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को आईआईटी में प्रवेश के लिए Jee advance की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है। जेईई एडवांस में भाग लेने के लिए आईआईटी प्रौद्योगिकी संस्थान केवल दो प्रयास प्रदान करता है अर्थात 2020 या 2021 कक्षा 12 परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थी आवेदन कर सकते हैं।

जेईई मेंस की परीक्षा योजना 2023

जेईई मेन परीक्षा 2021 के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने नया एग्जाम पैटर्न जारी किया है। यह परीक्षा ऑनलाइन मोड में कंप्यूटर बेस्ड मोड में आयोजित होगी। जेईई मुख्य परीक्षा निम्नलिखित मोड में आयोजित की जाएगी-

  1. पेपर 1(B.E./B.Tec) केवल कंप्यूटर आधारित (CBT) मोड में आयोजित होगी
  2. पेपर 2A(B.Arch.) Mathmatics(Part-1) और Aptitude Test (Part-II) केवल कम्प्यूटर आधारित परीक्षण(CBT) मोड में होगा और Drawing Test (Part-III) पेन और पेपर से offline मोड से होगा।A4 आकार की ड्राइंग शीट पर प्रयास करने के लिए।
  3. पेपर 2B (B.Planning) गणित (भाग-1) Aptitude Test (भाग-2) और Planning Based Questions (Part-III) केवल कम्प्यूटर आधारित टेस्ट (CBT) मोड में आयोजित होगा।

जेईई 2021 परीक्षा का आयोजन हिंदी, गुजराती और अंग्रेजी के अलावा पहली बार क्षेत्रिय भाषाओं असमिया, बंगाली, कन्नड़, मराठी, मलयालम, उड़िया, पंजाबी,तमिल, तेलगु और उर्दू में भी किया जाएगा। हिंदी और अंग्रेजी माध्यम के प्रश्न पत्र का पूरे भारत में तथा क्षेत्रीय भाषाओं तथा अंग्रेजी माध्यम के केंद्र संबंधित राज्यों में होंगे।

परीक्षा का माध्यम ऑनलाइन आवेदन करते समय application form में भरना होगा जिसे बाद में परिवर्तित नहीं किया जा सकेगा।

जेईई मेंस परीक्षा पैटर्न 2023

जेईई मेन परीक्षा 2021 की परीक्षा योजना, प्रश्न पत्र एग्जाम मोड और प्रश्न संख्या एवं अंक भार आदि के बारे में विस्तार से जानते हैं।

अब तक आप समझ गए होंगे कि संयुक्त इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा में प्रवेश के लिए एनटीए द्वारा तीन पेपर का आयोजन किया जाता है। अब हम इन तीनों पेपर एवं परीक्षा प्रणाली के बारे में अच्छी तरह से समझने के लिए 2021 के एक्जाम पेटर्न को जानना होगा।

जेईई मेंस में तीन पेपर का आयोजन किया जाएगा जो इस प्रकार हैं।अब पेपर की परीक्षा योजना के बारे में विस्तार से पूरी जानकारी देखिए।

जेईई मेन पेपर 1.(B.E.&B.Tech.)

  • इस प्रश्न पत्र में तीन विषयों (Mathematics, Physics & Chemistry) से प्रश्न पूछे जाएंगे।
  • परीक्षा CBT मोड अर्थात कंप्यूटर आधारित प्रशिक्षण से होगी।
  • प्रश्न पत्र 2 सेक्शन में होगा।सेक्शन-A और Section-B
  • Section-A में तीनों विषयों, mathematics, physics और chemistry प्रत्येक से 20 प्रश्न तथा Section-B में 10 प्रश्न होंगे।
  • Section-A में वस्तुनिष्ठ प्रकार के बहु वैकल्पिक (multiple choice questions) प्रश्न होंगे।
  • Section-A में Objective टाइप के 20 प्रश्न होंगे। प्रत्येक प्रश्न 4 अंक का है।सभी प्रश्न करने अनिवार्य हैं।
  • Section-A में गलत उत्तर के लिए नेगेटिव मार्किंग है।प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक अंक काटा जाएगा।
  • Section-B में प्रत्येक विषय के 10 प्रश्न होंगे परंतु अभ्यर्थी को केवल 5 प्रश्न करने हैं।
  • Section-B में ऐसे प्रश्न होंगे जिनके उत्तर संख्यात्मक मान(Numerical value) के रूप में भरे जाने हैं
  • Section-B में प्रत्येक प्रश्न 4 अंक का है इस प्रकार कुल 5×4=20 अंक।
  • Section-B में गलत उत्तर के लिए नेगेटिव मार्किंग नहीं है।

जेईई मेन पेपर 2 A(B.Arch.)

इस प्रश्नपत्र का Mathematics (Part-I) और Aptitude Test (Part-II) Computer Based Test (CBT) मोड में होगा तथा Drawing Test (Part-III) पेन और पेपर से A-4 साइज की शीट पर होगा।

  • Mathematics (Part-1) में 20 प्रश्न वस्तुनिष्ठ बहु वैकल्पिक (MCQ’S) होंगे तथा 10 प्रश्न संख्यात्मक मान (Numerical value) के होंगे।
  • बहु वैकल्पिक प्रश्नों में प्रत्येक प्रश्न 4 अंक का होगा तथा गलत उत्तर के लिए 1 अंक काटा जाएगा।
  • संख्यात्मक मान वाले 10 प्रश्नों में से कोई पांच प्रश्न करने होंगे। प्रत्येक प्रश्न चार अंक का होगा तथा गलत उत्तर के लिए कोई अंक नहीं काटा जाएगा।
  • Aptitude Test (Part-II) में 50 प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रत्येक प्रश्न दो अंक का होगा।
  • Drawing Test में दो प्रश्न पूछे जाएंगे जोकि 100 अंकों के होंगे।
  • इस तरह से Paper 2A कुल 400 अंकों का होगा।

Jee Mains पेपर 2 B.Planning

पेपर 2B(B.(planning) भाग- I: गणित, भाग- II: योग्यता परीक्षण(Aptitude Test)और भाग- III: योजना आधारित(Planning Based Questions)कंप्यूटर आधारित टेस्ट (CBT) मोड में ही होगें।

  • Part-1 Mathmatics में 20 प्रश्न वस्तुनिष्ठ बहु वैकल्पिक होंगे, प्रत्येक प्रश्न चार अंक का होगा तथा गलत उत्तर देने पर अंक -1 होगा।
  • Part-1 में 10 में से 5 प्रश्न का उत्तर संख्यात्मक मान में देना होगा, गलत उत्तर पर कोई अंक नहीं काटा जाएगा।
  • Part-II में Aptitude Test के 50 प्रश्न होंगे जो 200 अंक के होंगे।
  • Part-III में planning best objective type बहु वैकल्पिक प्रकार के 25 प्रश्न होंगे जिनका अंक भार 100 अंक होगा।

NTA के अनुसार उम्मीदवारों को बहु वैकल्पिक (MCQ) प्रकृति के प्रश्नों के लिए दिए गए उत्तरों में से जो सबसे अधिक सही लगे उसको चयन करना चाहिए।

यदि किसी प्रश्न के एक से अधिक विकल्प सही पाए जाते हैं तो उन सभी विकल्पों के लिए 4 अंक दिए जाएंगे परंतु गलत उत्तर वाले विकल्प के लिए -1 अंक होगा।

JEE Mains में आरक्षण स्थिति

केंद्र सरकार द्वारा संचालित संस्थानों में आरक्षण नीचे बताए अनुसार लागू होगा।

  1. अनुसूचित जाति(SC) के लिए 15% सीटें।
  2. अनुसूचित जनजाति(ST) के 7.5% सीटें।
  3. केंद्रीय सूची के अनुसार अन्य पिछड़ा वर्ग नॉन क्रीमी लेयर उम्मीदवारों के लिए 27% सीटें।
  4. सामान्य आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (General-EWS) के लिए 10% सीटें।
  5. 40 प्रतिशत से अधिक विकलांगता उम्मीदवारों के लिए 5 प्रतिशत सीटें आरक्षित रहेंगी।

यह आरक्षित सीटें केंद्रीय संस्थानों के मामले में लागू होंगी। राज्यों द्वारा संचालित क्या मान्यता प्राप्त संस्थानों में संबंधित राज्य की आरक्षण नीति लागू होगी।

Science Teacher-साइंस टीचर कैसे बने पूरी जानकारी

आरक्षण का यह लाभ NIIT,IIT और CFTI में प्रवेश के लिए केवल उन्हीं वर्गों या जातियों या जनजातियों को दिया जाएगा जो भारत सरकार की केंद्रीय सूची में हैं।

जेईई (मेन) B.E./B.Tech, B.Arch, और B.Planning के लिए NTA स्कोर

B.E/B.Tech, B.Arch और B.Planning के बहुविकल्पीय प्रश्नों का मूल्यांकनअंतिम उत्तर कुंजी और एक उम्मीदवार द्वारा प्राप्त कच्चे (वास्तविक) अंक का उपयोग करकेजेईई (मुख्य) फरवरी -2021 के परिणाम की गणना के लिए आगे विचार किया जाएगा।

मल्टी-शिफ्ट पेपर के लिए, उम्मीदवारों को विभिन्न शिफ्ट / सत्रों में प्राप्त किए गए कच्चे अंक एनटीए स्कोर में परिवर्तित किया जाएगा।

बी.ई. / बी.टेक (सत्र 1) के परिणाम का संकलन और प्रदर्शन

चूंकि जेईई (मेंस) फरवरी -2021 (सत्र 1), B.E/B.Tech का पहला सत्र बहु-पारियोंं(Multi-Shift) में आयोजित होगा,NTA SCORE की गणना एक उम्मीदवार द्वारा कच्चे अंकों के अनुसार की जाएगी।सत्र 1 की सभी पारियों के लिए परिकलित NTA स्कोर मार्च, 2021 तक घोषित किया जाएगा। इसमें प्रत्येक विषय (Physics,Math और Chemistry) के अंक होंगे।

इसी तरह से B.Arch और B.Planning में भी सभी उम्मीदवारों के प्राप्त कच्चे अंकों तथा सभी विषयों के आधार पर किया जाएगा।

जेईई मुख्य परीक्षा मई 2023 के आयोजन के बाद अखिल भारतीय रैंक (All india Rank) को संकलित और घोषित किया जाएगा। उम्मीदवारों को पर्सनल रूप से कोई स्कोर कार्ड नहीं भेजा जाता है, वे NTA किस साइट से ही इसे डाउनलोड कर सकते हैं। स्कोर के पुनर्मूल्यांकन का कोई प्रावधान नहीं है।

केंद्रीय सीट आवंटन बोर्ड (CSAB) या संयुक्त सीट आवंटन प्राधिकरण (JoSSA) द्वारा NITs/ IIITs/ CFTIs/ SFIs/ अन्य में प्रवेश के लिए अखिल भारतीय रैंक का उपयोग किया जाता है। सभी प्रतिभागी संस्थान जो केंद्रीय सीट आवंटन प्रक्रिया का उपयोग नहीं करेंगे वह जेईई मेंस 2021 एवं अन्य मापदंडों के आधार पर अपनी रैंक स्वयं तैयार करेंगे।

एनआईटी, आईआईआईटी, सीएफटीआई, एसएफआई, राज्य इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश
भाग लेने वाले राज्य और यूपीएसईई सहित अन्य प्रतिभागी संस्थान।

केंद्रीय सीट आवंटन बोर्ड(CSAB) के द्वारा NITs, IIITs and CFTIs में प्रवेश पात्रता-

B.E. / B.Tech / B.Arch / B.Planning. कोर्स के लिए महत्वपूर्ण संस्थानों (NITs, IIITs, and CFTIs ) में प्रवेश केंद्रीय सीट आवंटन बोर्ड के द्वारा अखिल भारतीय रैंक के आधार पर किया जाएगा परंतु उम्मीदवारों के लिए अर्हक योग्यता कक्षा 12 में 75% अंक प्राप्त करना या संबंधित बोर्ड द्वारा उच्चतम 20% परसेंटाइल में होना आवश्यक है अर्थात संबंधित बोर्ड के उच्चतम अंक प्राप्त 20% में हो।

अनुसूचित जाति और जनजाति(SC/ST) उम्मीदवारों के लिए यह 65% होगा।

वास्तुकला परिषद द्वारा निर्धारित पात्रता मानदंड B.Arch. course और NITs, IIITs, CFTIs;

1.आर्किटेक्चर कोर्स में प्रवेश लेने के लिए physics Chemistry maths प्रत्येक में 50% तथा कुल एग्रीगेट भी 50% मार्क्स होने चाहिए।

2. B. Planning में प्रवेश के लिए योग्यता परीक्षा(class 12th/समकक्ष) में गणित में 50% तथा कुल परीक्षा प्राप्तांक भी 50% होने चाहिए।

NITs, IIITs, and other CFTIs के B.E./B.Tech, B. Arch, and B. Planning कोर्स में प्रवेश के लिए अर्हत योग्यता कक्षा 12 या समकक्ष में इस प्रकार होनी चाहिए-

  1. B.E/B.Tech.-भौतिकी और गणित विषयों के साथ अनिवार्य विषयों के रूप में केमिस्ट्री / बायोटेक्नोलॉजी / बायोलॉजी / टेक्निकल वोकेशनल सब में से एक के साथ उत्तीर्ण की हो।
  2. B.Arch.-गणित भौतिकी और रसायन विज्ञान के साथ उत्तीर्ण की हो।
  3. B.Planning- Mathematics के साथ योग्यता परीक्षा उत्तीर्ण की हो।

जेईई मेंस परीक्षा में सफल रहे उम्मीदवारों को उनके प्राप्तांक की वरीयता प्राप्त स्कोर की अखिल भारतीय रैंक के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा। आरक्षण प्राप्त उम्मीदवार सक्षम अधिकारी से प्रमाण पत्र बनाकर रखें।

सभी उम्मीदवार जो आईआईटी के स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेना चाहते हैं उन्हें जेईई मेंस परीक्षा 2021 के प्रश्न पत्र B.Tech. और B.E में भाग लेना होगा और सभी श्रेणियों के उच्चतम अंक प्राप्त उम्मीदवार JEE Advance परीक्षा में भाग लेने के योग्य होंगे।

जेईई एडवांस परीक्षा में भाग लेने वाले उम्मीदवारों के पास योग्यता परीक्षा कक्षा 12 या समकक्ष में 75% अंक होने अनिवार्य हैं। ST-ST और पीडब्ल्यूडी उम्मीदवारों के लिए 65% अंक होना आवश्यक है। इस परीक्षा में अधिकतम दो प्रयास में शामिल हो सकते हैं।

परीक्षा शहर का चयन(choice of city)

उम्मीदवार जिस शहर में जेईई मेन परीक्षा देना चाहता है, उसका उल्लेख अपने आवेदन पत्र में करना होगा।

जिन शहरों में JEE (Main) 2023 आयोजित किया जाएगा, वे परिशिष्ट- III में दिए गए हैं।

उम्मीदवारों को अपनी पसंद के किन्हीं भी 4 शहरों का चयन करना होगा। उम्मीदवारों के ऑनलाइन आवेदन पत्र में प्रयासों की पसंद के क्रम में यह शहर चयनित करने की सुविधा होगी तथापि प्रशासनिक या अन्य कारणों से अलग शहर का आवंटन किया जा सकता है।

परीक्षा की योजना(scheme of examination)

Jee Mains 2021 की परीक्षा योजना चार सत्रों में क्रमशः फरवरी मार्च-अप्रैल और मई माह में किया जाना प्रस्तावित है।

  1. प्रथम सत्र फरवरी 2023 में क्रमशः 23, 24, 25 एवं 26 जनवरी को होगा।
  2. दूसरा सत्र मार्च माह में 15, 16, 17 एवं 18 मार्च को होगा।
  3. तीसरा सत्र अप्रैल माह में 27, 28, 29 एवं 30 अप्रैल को होगा।
  4. चौथा सत्र मई माह में 24,25,26, 27 एवं 28 मई 2023 को होगा।

परीक्षा की समय अवधि

B.E. एवं B.Tech. प्रश्न पत्र प्रथम पारी में 9:00 बजे पूर्वाहन से 12: 30 अपराह्न तक तथा दूसरी पाली में 3:30 अपराह्न से 6:30 सायं तक होगी।

B.Arch.प्रश्नपत्र 2A प्रथम पाली में 9.00 बजे पूर्वाहन से 2:00 अपराह्न तक तथा द्वितीय पाली 3:30 बजे अपराह्न से 6:00 बजे सायं तक होगी।

B.Planning प्रश्नपत्र 2B का आयोजन 3:00 अपराहन से शाम 6:00 बजे तक होगा।

ऐसे अभ्यर्थी जिन्होंने B.Archh. के साथ B.Planning पेपर के लिए भी आवेदन किया है, उनके लिए समय अवधि 3:30 घंटे होगी। इनका परीक्षा समय 3:00 बजे अपराहन से शाम 6:30 बजे तक होगा।

अभ्यर्थियों को सभी क्षेत्रों में उपस्थित होना अनिवार्य नहीं है, यदि कोई अभ्यर्थी एक से अधिक सत्रों में उपस्थित होता है तो सभी परीक्षाओं में सबसे बेहतर प्राप्तांक का प्रयोग NTA SCORE/Rank निर्धारित करने के लिए किया जाएगा।

अभ्यर्थी एक सत्र या एक से अधिक सत्रों के लिए एक ही बार में आवेदन कर सकता है। यदि अभ्यर्थी प्रथम सत्र में परीक्षा देने के बाद चाहे तो अन्य सत्रों में अनुपस्थित रह सकता है और अपना शेष परीक्षा शुल्क भी वापस प्राप्त कर सकता है।

किसी एक सत्र के लिए एक से अधिक आवेदन किसी भी परिस्थिति में स्वीकार नहीं किया जाएगा। यदि अभ्यर्थी ने प्रथम सत्र के लिए आवेदन नहीं किया है और अन्य सत्रों के लिए आवेदन करना चाहता है तो प्रत्येक बार सत्र पूर्ण होने के बाद आवेदन विंडो संक्षिप्त समय के लिए खोली जाएगी और अभ्यर्थी आवेदन कर सकता है।

जेईई मेन Admit Card

उम्मीदवारों को जेईई मेंस 2021 की परीक्षा के विभिन्न सत्रों में उपस्थित होने के लिए एडमिट कार्ड NTA द्वारा जारी किया जाएगा, जिसमें उम्मीदवार की जानकारी के साथ-साथ परीक्षा का समय और सत्र दर्ज होगा।

उम्मीदवारों को यह जेईई मेंस प्रवेश परीक्षा पत्र E-admit Card एनटीए की वेबसाइट पर से डाउनलोड करना होगा। प्रवेश पत्र पर जो तिथि,पारी एवं समय होगा उसी अनुसार अभ्यर्थी को परीक्षा केंद्र पर उपस्थित होना होगा।

यदि कोई उम्मीदवार अपना E-admit card डाउनलोड नहीं कर पा रहा है या किसी प्रकार की समस्या है तो NTA helpline number 0120-6895200 पर 10:00 बजे से 5:00 बजे तक संपर्क कर सकते हैं।

उम्मीदवार अपने admit card पर दिए गए निर्देशों को ध्यान पूर्वक पढ़ लें यदि किसी के प्रवेश पत्र पर नाम फोटो तथा पुष्टिकरण पृष्ठ (Confirmation Page)आदि में कोई विसंगति है तो NTA helpline से तुरंत संपर्क करें। हालांकि विसंगति सुधारने में NTA में देरी हो सकती है परंतु उम्मीदवार उसी डाउनलोड पत्र से परीक्षा में प्रवेश कर सकता है।

जेईई मेंस 2023 फरवरी के सत्र के लिए फरवरी के दूसरे सप्ताह में प्रवेश पत्र डाउनलोड किया जा सकता है, अन्य सत्रों के लिए एनडीए द्वारा बाद में इसकी घोषणा की जाएगी। इसकी जानकारी NTA की साइट पर jeemain.nta.nic.in लिंक पर देख सकते हैं।

उम्मीदवारों को JEE Mains admit card डाक द्वारा नहीं भेजे जाएंगे, यह एनटीए की साइट पर ही उपलब्ध होंगे और दोबारा परीक्षा केंद्रों पर कोई डुप्लीकेट एडमिट कार्ड जारी नहीं किया जाएगा। इसलिए अपने एडमिट कार्ड को भविष्य के लिए संभाल कर रखें।

जिन उम्मीदवारों के आवेदन पत्र अधूरे हैं, फोटोग्राफ हस्ताक्षर या अन्य कोई कमी है या उम्मीदवार परीक्षा में बैठने के अपात्र है तो उनके आवेदन पत्र जारी नहीं किए जाएंगे। तथापि प्रवेश पत्र जारी करने से कोई अभ्यर्थी पात्र नहीं माना जाएगा उसकी अलग से जांच की जाएगी।

उम्मीदवारों के लिए निर्देश-

जेईई मेंस परीक्षा 2023 में उपस्थित होने वाले उम्मीदवारों को निम्न बातें खाद्य ध्यान में रखनी चाहिए।

  1. उम्मीदवार परीक्षा सेंटर पर परीक्षा शुरू होने के 2 घंटे पहले पहुंचे क्योंकि परीक्षा में किसी प्रकार की देरी से पहुंचने के लिए NTA उत्तरदाई नहीं है।
  2. उम्मीदवारों को अपने लिए निर्धारित सीट पर ही बैठना चाहिए जो रोल नंबर और सीट उनको आवंटित किए गए हैं।
  3. उम्मीदवार को परीक्षा हॉल में ड्यूटी स्टाफ को अपना NTA Admit Card प्रस्तुत करना होगा और वहां पर उपस्थित इनविजीलेटर्स को अपनी पहचान भी सत्यापित करानी होगी। मांगे जाने पर संबंधित दस्तावेज प्रस्तुत करना होगा।
  4. उम्मीदवार के पास परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड होने न पर केंद्र अधीक्षक द्वारा किसी भी परिस्थिति में परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी।
  5. उम्मीदवार को अपने रोल नंबर वाली आवंटित सीटों पर ही बैठना चाहिए यदि आमंत्रित सीट में कोई संशोधन किया गया है तो उसे खोज कर बैठना चाहिए।
  6. उम्मीदवार को कंप्यूटर में लॉग इन करने के बाद और प्रश्न पत्र को हल करने से पहले यह देख लेना चाहिए कि कंप्यूटर की स्क्रीन पर उसके एडमिट कार्ड में दर्शाए गए अनुसार ही प्रश्नपत्र है, यदि इसमें कोई बदलाव है तो तुरंत इनविजीलेटर्स के ध्यान में लाना चाहिए।
  7. उम्मीदवार कोई तकनीकी समस्या होने, आपातकाल या प्राथमिक चिकित्सा हेतु या परीक्षा संबंधी अन्य कोई समस्या आने पर पर्यवेक्षक या केंद्र अधीक्षक से संपर्क कर सकते हैं।
  8. कंप्यूटर आधारित टेस्ट के बारे में किसी भी प्रश्न या मुद्दों के लिए, उम्मीदवार JEE helpline number पर संपर्क कर सकते हैं।
  9. यदि कोई उम्मीदवार गलत जानकारी प्रस्तुत करता है, एक से अधिक पारी या तिथि में उपस्थित होता है तो उसकी उम्मीदवारी निरस्त कर दी जाएगी।

जेईई मेन के लिए आवश्यक दस्तावेज

जेईई मेंस परीक्षा में बैठने के लिए अभ्यर्थियों को आवश्यक रूप से यह दस्तावेज लाने होंगे अन्यथा उनको परीक्षा में बैठने नहीं दिया जाएगा। यह दस्तावेज(documents) निम्न प्रकार है-

  • एनटीए की वेबसाइट से डाउनलोड किए गए Admit Card की प्रिंट कॉपी।
  • एक पासपोर्ट आकार का फोटो जो Online Application Form के समान हो और परीक्षा केन्द्र में एडमिट कार्ड में चिपकाने लायक हो।
  • पहचान के लिए फोटो आईडी जो ओरिजिनल, अधिकृत, वैध,और मूल हो जैसे School Identity card, पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड या कक्षा 12 का बोर्ड क्लास का सर्टिफिकेट।बैंक पास फोटो प्रति। दस्तावेज पर पहचान के लिए अभ्यर्थी का फोटो लगा होना आवश्यक है।
  • PwD Category के तहत छूट प्राप्त करने वाले प्राधिकृत चिकित्सा अधिकारी द्वारा जारी किया गया PwD certificate साथ लेकर आवें।

फरवरी 2023 में जेईई मेंस परीक्षा के लिए बहुत सारे अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था परंतु रिजल्ट आउट होने के बाद पता चला बहुत कम अभ्यर्थी 100 परसेंटाइल प्राप्त कर सके। अभी हम आपको इसकी जानकारी देंगे कि JEE Mains परीक्षा में परसेंटाइल और प्रतिशत का क्या महत्व होता है।

सामान्यतया बहुत सारे अभ्यर्थी भी उच्च रैंक वाले होते हैं और वह अच्छी परसेंटाइल प्राप्त करते हैं परंतु सामान्य अभ्यर्थी भी इसमें और अच्छे अंक प्राप्त करके अपना भविष्य बना सकते हैं।

जेईई मेंस में कितने अंक प्राप्त करें

सभी विद्यार्थी टॉपर नहीं होते। सभी सामान्य विद्यार्थी फिजिक्स मैथ्स और रसायन विज्ञान अर्थ अर्थ विज्ञान विषय में बढ़िया नंबर प्राप्त नहीं कर सकते परंतु उनमें समझ बुद्धि और शैक्षणिक बुद्धिमत्ता अवश्य होती है इसलिए तनाव रहित होकर अपनी परिक्षा दें और साइंस स्ट्रीम वाले विद्यार्थियों के और भी बहुत सारे अवसर हैं।

आप हमारी वेबसाइट पर विजिट करके बहुत सारे ऑप्शंस के बारे में जान सकते हैं।

JEE Mains 2023 की परीक्षा CBT अर्थात कंप्यूटर आधारित टेस्ट मोड में होगी अतः परीक्षार्थियों को सलाह है कि वे परीक्षा से पूर्व मॉक टेस्ट का अच्छी तरह अभ्यास कर लें। आपने इस लेख Jee Mains kya hai में जेईई मुख्य परीक्षा के बारे में विस्तार से समझ लिया है।

अब आप नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के पोर्टल से जेईई मेंस परीक्षा का सिलेबस डाउनलोड करके उसका अध्ययन करें और उसी के अनुसार तैयारी करें।

National Testing Agency की साइट पर जाकर आप मॉक टेस्ट का अभ्यास कर सकते हैं जिससे आपको Jee online exam paper देने का अनुभव हो सके। साइट पर विभिन्न वर्षों के प्रश्न पत्र आप हल कर सकते हैं और अभ्यास कर सकते हैं। इसके लिए निम्न लिंक पर जाएं।

NTA JEE Mains Mock Test

इसके लिए आपको अपने User ID और पासवर्ड से लॉगइन करना होगा। यह यूजर आईडी और पासवर्ड Jee Mains registration के समय आपने यूज किए होंगे, उन्हीं से लॉगिन करना है। जेईई मेंस परीक्षा क्या है, इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप इस परीक्षा की पात्रता (eligibility) परीक्षा योजना और इंजीनियर कॉलेजों में तथा आईआईटी में प्रवेश, प्रवेश के लिए निर्धारित स्कोर कार्ड आदि के बारे में जान चुके हैं। आशा है आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी। धन्यवाद।

कंप्यूटर टीचर कैसे बने योग्यता सिलेबस और पूरी जानकारी