भूगोल का टीचर कैसे बने?How to become a geography teacher

यदि आप यह जानना चाहते हैं कि भूगोल का टीचर कैसे बनते हैं? भूगोल विषय के साथ अध्यापक बनने के लिए क्या आवश्यक योग्यता है।भूगोल विषय से टीचर बनने के लिए कितने प्रतिशत अंकों के साथ कौन सी डिग्री चाहिए।

Geography ka teacher Kaise bane? Geography teacher qualification kya hai. Geography teacher banne ke liye kya karna hai?

इन सब सवालों का जवाब जानने के लिए आप यह पोस्ट भूगोल का टीचर कैसे बने को ध्यान से पढ़िए आपके सभी सवालों का जवाब इस में मिल जाएगा।

जी हां। आप सभी जानते हैं कि भूगोल एक बहुत ही रोचक और कैरियर की अपार संभावनाओं वाला विषय है। भूगोल विषय में स्नातक, स्नातकोत्तर और पीएचडी जैसी उपाधि प्राप्त करने के बाद आपके लिए जोब के विभिन्न अवसर खुल जाते हैं। आप इंजीनियरिंग आदि क्षेत्रों में अच्छी जॉब प्राप्त कर सकते हैं।

इसी तरह भूगोल विषय में टीचर बनने के लिए आपको ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन के स्तर पर भूगोल विषय का अध्ययन करना होता है।

यह भी पढ़ें-

गवर्नमेंट स्कूल टीचर कैसे बने

भूगोल विषय से शिक्षक बनने के लिए आपको भूगोल विषय का अच्छी तरह और गहराई से अध्ययन करना होगा। इस विषय पर पकड़ बनानी होगी। तो चलिए हम बात करते हैं भूगोल शिक्षक बनने के लिए क्या करना चाहिए?

भूगोल का टीचर कैसे बने?

भूगोल अत्यंत स्कोप वाला विषय है और भूगोल से अध्ययन करने के बाद शिक्षा के क्षेत्र में भूगोल शिक्षक बनकर अच्छी प्रतिष्ठा प्राप्त की जा सकती है।

प्राइवेट एवं सरकारी शिक्षा संस्थानों में ज्योग्राफी विषय के शिक्षक, व्याख्याता की आवश्यकता होती है। अन्य विषयों के मुकाबले में भूगोल शिक्षकों की आवश्यकता अधिक होती है क्योंकि भूगोल एक स्कोप वाला विषय है और अधिकतर छात्र भूगोल विषय के साथ अध्ययन करते हैं।

कला वर्ग में प्राय भूगोल विषय से ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन करने वाले विद्यार्थियों की संख्या अधिक होती है है अतः उन्हें भूगोल पढ़ाने के लिए अधिक भूगोल शिक्षकों एवं व्याख्याताओं की आवश्यकता होती है। आज इस पोस्ट में हम जानेंगे कि भूगोल शिक्षक कैसे बनते हैं।

कक्षा 12 भूगोल विषय के साथ पूर्ण करें।

भूगोल विषय में शिक्षक बनने के लिए कक्षा 10 के बाद कला संकाय के वैकल्पिक विषयों में भूगोल (Geography) विषय को लेना चाहिए। भूगोल के साथ अन्य दो विषय कोई भी ले सकते हैं जैसे राजनीति विज्ञान इतिहास आदि।

कक्षा 11 एवं 12 में भूगोल वैकल्पिक विषय के रूप में पढ़ाया जाता है। इन ऐच्छिक विषयों में अच्छी तरह से अध्ययन करना चाहिए क्योंकि आगे जाकर अच्छे प्राप्तांक और विषय पर आपकी समझ एवं पकड़ मजबूत होगी तो किसी भी प्रतियोगिता परीक्षा को उत्तीर्ण करना आसान होगा।

भूगोल से बी.ए. (ग्रेजुएशन) करें

भूगोल विषय से 3 वर्षीय अवधि का स्नातक कोर्स करना चाहिए। यहां अभ्यर्थियों को यह ध्यान देना चाहिए कि प्राय अधिकतर सरकारी भूगोल टीचर वैकेंसी में ग्रेजुएशन में 50 प्रतिशत अंक होने आवश्यक हैं।

इसलिए भूगोल विषय में शिक्षक बनने के लिए ग्रेजुएशन में अच्छे प्राप्तांक होने चाहिए। विद्यार्थी को सैद्धांतिक अध्ययन के साथ-साथ प्रायोगिक कार्य (Practical Work) का भी अच्छा ज्ञान होना चाहिए।

प्रायः देखने में आता है कि अधिकतर विद्यार्थी भूगोल के सैद्धांतिक अध्ययन को तो पर्याप्त समय देते हैं और अच्छी तरह पढ़ लेते हैं परंतु प्रायोगिक अध्ययन पर अधिक ध्यान नहीं देते जिससे उन्हें बाद में यह समझने में कठिनाई होती है और कॉलेज में भले ही ज्योग्राफी प्रैक्टिकल में अच्छे मार्क्स प्राप्त कर लें परंतु प्रतियोगिता विषय की तैयारी करते समय वह इन प्रश्नों को हल नहीं कर पाते।

इसलिए Geography subject teacher बनने के लिए आवश्यक है कि इस विषय का सम्यक अध्ययन करना चाहिए।

Geography से पोस्ट ग्रेजुएशन करें

किसी विषय का व्याख्याता बनने के लिए उस विषय में पोस्ट ग्रेजुएशन होना आवश्यक है।

Geography से पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री को एम.ए. न कहकर एमएससी कहा जाता है। भूगोल से पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद आप इस विषय के मास्टर हो जाते हैं अर्थात आपको इस विषय पर अच्छी खासी नॉलेज हो जाती है।

भूगोल से प्राध्यापक या कॉलेज व्याख्याता बनने के लिए यह आवश्यक है कि पोस्ट ग्रेजुएशन स्तर पर आप अच्छे प्राप्तांक प्राप्त करें। प्राध्यापक अर्थात स्कूल व्याख्याता बनने के लिए पोस्ट ग्रेजुएशन स्तर पर न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक होने चाहिए। हालांकि यह निर्धारित प्राप्तांक अलग-अलग राज्यों में विभिन्न हैं और हिना में नियमानुसार छूट भी दी गई है।

भूगोल विषय से कॉलेज लेक्चरर बनने के लिए सामान्य श्रेणी के आवेदकों के लिए न्यूनतम 55 प्रतिशत एवं अन्य अभ्यर्थियों के लिए 50 प्रतिशत अंक होने चाहिए।

दो वर्षीय बीएड पाठ्यक्रम पूरा करें

Geography से पोस्ट ग्रेजुएशन पूर्ण करने से पहले या बाद में b.ed पाठ्यक्रम पूरा करना होगा।

किसी भी विषय का शिक्षक बनने के लिए Teacher Training course करना आवश्यक होता है। भूगोल विषय का अध्यापक बनने के लिए B.ed. या उसके समान कोई भी शिक्षक प्रशिक्षण डिग्री प्राप्त करना आवश्यक है और यह न्यूनतम 2 वर्ष की अवधि तथा स्नातक स्तरीय होनी चाहिए।

Geography Teacher Kaise Bane/Geography teacher qualification/Geography mein career

भूगोल विषय में शिक्षक बनने के लिए बीएड डिग्री और ग्रेजुएशन तथा पोस्ट ग्रेजुएशन आवश्यक है। स्कूल व्याख्याता (Geography Subject) के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी के पास यह योग्यता होनी चाहिए।

यदि आपने भूगोल, इतिहास या राजनीति शास्त्र जैसे विषयों से ग्रेजुएशन किया है तो आप प्राइमरी स्तर और माध्यमिक स्तर पर भी शिक्षक बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

क्योंकि भूगोल विषय उच्च माध्यमिक स्तर पर ऐच्छिक विषय के रूप में स्वीकृत है तथापि माध्यमिक स्तर पर सामाजिक विज्ञान भूगोल या अन्य विषय के रूप में पढ़ाया जाता है।

इसलिए आप तृतीय श्रेणी अध्यापक या वरिष्ठ अध्यापक सामाजिक विज्ञान के लिए आवेदन कर सकते हैं यदि ग्रेजुएशन में भूगोल के साथ राजनीति विज्ञान या इतिहास विषय रहा हो।

भूगोल टीचर(Geography lecturer) बनने के लिए योग्यता

भूगोल विषय में शिक्षक बनने के लिए निम्न योग्यताएं आवश्यक है-

  • भूगोल विषय में स्नातक और परास्नातक (पोस्ट ग्रेजुएशन) होना आवश्यक है
  • बीएड डिग्री होनी चाहिए
  • प्रतियोगिता परीक्षा में मेरिट में आना आवश्यक है।

भूगोल में टीचर या लेक्चरर कैसे बने

भूगोल विषय से स्कूल व्याख्याता बनने के लिए पोस्ट ग्रेजुएशन और शिक्षक प्रशिक्षण मे डिग्री होना आवश्यक है लेकिन कॉलेज व्याख्याता बनने के लिए विभिन्न योग्यता है।

Geography college lecturer बनने के लिए पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद NET(National eligibility test) करना आवश्यक होता है।

इस तरह से हम देखते हैं कि भूगोल विषय में टीचर बनने के लिए कई ऑप्शन हैं। सबसे पहले अपनी ग्रेजुएशन geography विषय के साथ पूर्ण करें।

स्कूल व्याख्याता बनने के लिए भूगोल विषय से पोस्ट ग्रेजुएशन करें और b.ed करने के बाद आप इस पोस्ट के लिए योग्य हो जाते हैं। कॉलेज व्याख्याता बनने के लिए भूगोल विषय में नेट उत्तीर्ण करना आवश्यक है।

तो यह पोस्ट भूगोल विषय का टीचर कैसे बने आप की जानकारी को बढ़ाने के लिए थी और आप समझ गए होंगे भूगोल विषय के अध्यापक कैसे बन सकते हैं।


Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *