विद्यालय में वार्षिक खेल कूद प्रतियोगिता आयोजन महत्व और वार्षिक खेल प्रतियोगिता पर प्रतिवेदन।

विद्यालय में प्रतिवर्ष वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता का सफल आयोजन करने के लिए हमें बहुत सी तैयारियां करनी पड़ती हैं और विद्यालय में खेल प्रतियोगिता सुव्यवस्थित और प्रभावी तथा महत्वपूर्ण तब हो जाती है जब हम पूरे एकाग्र मन और टीम व्यवस्था के साथ इसका आयोजन करते हैं।

प्रतिवर्ष विद्यालय में वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। जिससे कि पढ़ाई के साथ-साथ बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास तथा बच्चों की खेलों में रुचि के अनुसार उनको अपने भविष्य में आगे बढ़ने के लिए प्लेटफॉर्म मिल सके।

विद्यालय में सांस्कृतिक गतिविधियां: आयोजन महत्व एवं प्रतिवेदन

Importance of games in school. Sports report annual games in school. Annual Games organised and prepare this report school in Hindi वार्षिक खेल प्रतियोगिता का आयोजन। वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता का महत्व और वार्षिक खेल प्रतियोगिता का प्रतिवेदन हिंदी में।

मंच संचालन के लिए बेहतरीन हिंदी चुटकुले

बहुत सारे बच्चे ऐसे होते हैं जो शैक्षणिक गतिविधियों या पढ़ाई में अधिक रुचि प्रदर्शित नहीं करते परंतु विभिन्न खेलों और शारीरिक दक्षताओं में इतने तेज तर्रार होते हैं कि किसी प्रतियोगी को अपने सामने टिकने नहीं देते। ऐसे ही बच्चों की पहचान करने और उन्हें आगे बढ़ने के लिए अवसर प्रदान करने के लिए विद्यालय स्तर से ही खेलकूद प्रक्रिया प्रारंभ हो जाती है। आजकल प्राय सभी छोटे स्कूल भी बच्चों की इस दक्षता को उभारने के लिए बच्चों को विशेष सुविधाएं उपलब्ध कराने और विद्यालय स्तर पर अनेक प्रकार की खेल प्रतिस्पर्धा आयोजित करवाते हैं।

विद्यालय में खेल प्रतियोगिता

प्राय बड़े शहरों में विभिन्न स्पोर्ट्स स्कूल और स्पोर्ट्स अकैडमी के द्वारा खेलों में दक्ष विद्यार्थियों को ट्रेनिंग एवं खेल कौशल प्रदान किए जाते हैं तथा उन्हें राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय खेलों के लिए तैयार किया जाता है।

विद्यालय में खेल प्रतियोगिता:

विद्यालय स्तर पर प्रतिवर्ष वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता का ग्राम पंचायत ब्लॉक एवं तहसील तथा जिला स्तर पर आयोजन किया जाता है। ब्लॉक एवं तहसील स्तर पर तथा वहां से जिला स्तर पर खेलकूद प्रतियोगिता में भाग लेने वाली टीमों का चयन विद्यालय स्तर की टीमों में से आपस में विजेता रहने वाली टीम का चयन किया जाता है।

विद्यालय में आयोजित खेलों में से प्रतिस्पर्धा वान एवं कुशल खिलाड़ियों का चयन कर उनकी सूची राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर के खेलों में भाग लेने के लिए प्रेषित की जाती है और वह खेलों में दक्ष विद्यार्थी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीतने और देश का नाम गौरवान्वित करने के साथ-साथ अपने कैरियर को भी ऊंची उड़ान दे पाते हैं।

विद्यालय में खेल कूद का महत्व:

खेलकूद को बढ़ावा देने और प्रतिभावान तथा कुशल खिलाड़ियों को राज्य तथा राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक पहुंचाने में विद्यालय खेलकूद प्रतियोगिता का महत्वपूर्ण स्थान है। अपने विद्यालय स्तर पर बचपन से ही प्रतिभावान खिलाड़ियों की कुशलता पहचान कर उनको आगे पहुंचाने का मौका दिया जाता है तथा प्रारंभ से ही विद्यार्थियों में खेलकूद के माध्यम से अनुशासन, सहयोग और सामाजिकता की भावना का विकास किया जाता है।

वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता का प्रतिवेदन तैयार करना:

प्रतिवेदन में विद्यालय में खेलकूद प्रतियोगिता का संपूर्ण सारांश आ जाता है। खेलकूद प्रतियोगिता के आयोजन प्रारंभ करने से पूर्व खेलकूद प्रतियोगिता आयोजित करने से संबंधित सभी गतिविधियों को प्रतिवेदन में सम्मिलित करना चाहिए।

विद्यालय में खेल प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह से लेकर विभिन्न आयोजित खेल प्रतियोगिता, प्रतियोगिता खेल संचालन, प्रतियोगिता में भाग लेने वाले प्रतिभागी तथा खेल के साथ साथ सांस्कृतिक गतिविधियों, खेल आयोजन में उपस्थित खिलाड़ी एवं अतिथियों तथा खेल के बाद विजेता टीमों की घोषणा के साथ ही प्रतिभागी खिलाड़ियों को विभिन्न पुरस्कार देने तथा अंत में विद्यालय खेल प्रतियोगिता के समापन समारोह का संपूर्ण विवरण विद्यालय खेल प्रतिवेदन में इस प्रकार करना चाहिए कि वह सुसंगठित और व्यवस्थित विद्यालय खेल प्रतिवेदन के रूप में साकार हो सके।

विद्यालय में प्रतिवर्ष की जाने वाली वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता के आयोजन एवं इसके प्रतिवेदन निर्माण की संपूर्ण जानकारी हम आपको इस पोस्ट में स्टेप बाय स्टेप शेयर कर रहे हैं जो आप अपने किसी भी विद्यालय के लिए उपयोग में ले सकते हैं और अपनी वार्षिक या अन्य किसी भी प्रकार की खेलकूद प्रतियोगिता के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं।

विद्यालय में खेलकूद प्रतियोगिता आयोजन

विद्यालय में खेल प्रतियोगिता विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के लिए एक आवश्यक कदम है और छोटे या बड़े सभी विद्यालयों को अपने स्तर पर विद्यालय में खेलकूद करवाना चाहिए तथा बेहतर प्रतिस्पर्धा के लिए खेलकूद प्रतियोगिता का भी आयोजन करना चाहिए। तथापि देखने में आया है कि कुछ बड़े स्कूल या प्राइवेट स्कूल केवल रिजल्ट पर ध्यान रखते हैं और अन्य एक्टिविटी पर बिल्कुल भी फोकस नहीं करते परंतु अभिभावकों को ध्यान रखना चाहिए कि अपने बच्चों को ऐसे स्कूल में दाखिला करवाएं जहां केवल किताबी ज्ञान न रटवाया जाता हो बल्कि पढ़ाई के साथ साथ सांस्कृतिक, खेलकूद आदि गतिविधियां भी उनकी एक्टिविटीज में शामिल हो इससे बच्चे का संपूर्ण विकास होता है जबकि केवल पढ़ाई और अपने रिजल्ट पर ध्यान देने वाले विद्यालयों में पढ़े हुए विद्यार्थियों की मानसिकता कमजोर रह जाती है उनमें सामाजिकता की भावना विकसित नहीं हो पाती।

विद्यालय में खेल प्रतियोगिता हालांकि शारीरिक शिक्षक पर निर्भर करती है परंतु बहुत सारे ऐसे विद्यालय हैं जहां पर या तो शारीरिक शिक्षक ही नहीं हैं या फिर खेलने के लिए सामान उपलब्ध नहीं है, अतः आप छोटे स्तर पर भी सामान्य बालकों के साथ खेलकूद करवा सकते हैं। कुछ सामान्य खेल जो बिना किसी उपलब्ध उपकरणों और खेल मैदान के बिना भी किए जा सकते हैं। यह ध्यान रखिए कि बालक खेल खल में जल्दी सीखता है और उस टीचर के भी बहुत करीब आ जाता है, इसलिए खेल मनोविज्ञान यही है कि बच्चों को खेल खिलाएं वह अपनी भावनाएं प्रकट करेंगे और आपको बताएंगे कि उन्हें क्या चाहिए? खास तौर से पढ़ाई लिखाई में कमजोर बालक खेलों के प्रति अधिक आकर्षित होते हैं और वह खेलों के माध्यम से ही ज्ञान ग्रहण करते हैं।

बच्चों को स्थानीय खेल खिलाएं

साधारणतया मनोविज्ञान यह कहता है कि बालक अपने परिवेश और वातावरण के प्रति संवेदनशील रहता है इसलिए उसे स्थानीय परिवेश के अनुसार अपने आसपास के और स्थानीय खेल खिलाएं। इससे बच्चे की खेलों के प्रति रुचि बढ़ेगी और वह खेल खेल में एक आनंद अनुभव करेगा और पढ़ाई के प्रति भी उसकी रुचि जागृत होगी।

शुरुआत में हमने देखा है कि कई बच्चे जो कि स्लेट भी पकड़ना नहीं चाहते वह भी किसी खेल से आनंदित होकर बहुत कुछ सीखने के लिए लालायित हो जाते हैं। खेलों के साथ पढ़ाएं, इसमें बच्चों को आनंद मिलता है और एक खेल के बाद उनको पढ़ने के लिए कहें तो वह आपकी बात मान कर वह भी सीख लेंगे जो उनको पहले बहुत दुष्कर लग रहा था।

सामूहिक और एकल खेलकूद प्रतियोगिता

विद्यालय में प्रत्येक शनिवार या आवश्यकतानुसार निर्धारित समय और तिथि को विद्यार्थियों की एकल एवं सामूहिक खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन करना अच्छा रहता है। एकल खेलकूद में लंबी दौड़, पैदल चाल, ऊंची कूद जैसे खेलों को सम्मिलित कर सकते हैं। लंबी दौड़ में 100 मीटर 500 मीटर या अन्य निर्धारित दूरियों की खेलकूद प्रतियोगिता आयोजित की जा सकती है।

सामूहिक खेलों में कुश्ती कबड्डी एवं अन्य परंपरागत खेलों के साथ साथ आधुनिक खेलों का आयोजन करना चाहिए। यदि विद्यालय में खेलकूद हॉकी, बैडमिंटन, फुटबॉल, बेसबॉल तथा क्रिकेट आदि के लिए मैदान है तो खिलाड़ी तैयार करने के लिए विद्यालय स्तर पर प्रतियोगिता आयोजित की जानी चाहिए। विभिन्न एथलेटिक्स गेम्स बच्चों को खिलाने चाहिए।

पाक्षिक या मासिक खेल-कूद प्रतियोगिता का आयोजन

प्रायः विभिन्न खेलकूद की प्रतियोगिता पाक्षिक या मासिक रूप से आयोजित कर सकते हैं। यह खेलकूद प्रतियोगिता अपने विद्यालय के बच्चों की विभिन्न खेलों की टीम बनाकर आयोजित कर सकते हैं। टीम का गठन विभिन्न खेलों में विद्यार्थियों की रुचि के अनुसार कर सकते हैं।

अपने विद्यालय के विद्यार्थियों की टीम के साथ किसी अन्य आस-पास के विद्यालय के विद्यार्थियों की टीम के साथ मासिक मैच की प्रतियोगिता करके विद्यार्थियों को अपनी कुशलता और स्पर्धा के साथ प्रायोजित कर सकते हैं।

खेलकूद के लिए पर्याप्त अभ्यास

किसी भी खेल कूद प्रतियोगिता के आयोजन से पहले खिलाड़ियों को पर्याप्त अभ्यास होना जरूरी है। इसके लिए आप विद्यालय परिसर में विद्यालय समय में सह शैक्षणिक गतिविधियों के समय में विद्यार्थियों को अभ्यास करवा सकते हैं।

विद्यार्थियों को विभिन्न खेलों के अभ्यास के लिए आपको एक बार शुरुआत में प्रेरणा और निर्देश देने हैं। विद्यार्थियों को खेलों के नियम समझाने हैं और विभिन्न स्किल्स बतानी है, इसके बाद विद्यार्थी स्वयं ही अपनी प्रैक्टिस प्रारंभ कर देते हैं क्योंकि खेलों में विद्यार्थियों की पर्याप्त रूचि जागृत हो जाती है।

एकल खेलों का अभ्यास विद्यार्थी अपने घर पर भी उपलब्ध संसाधनों के अनुसार कर सकता है या विद्यालय समय के बाद भी विद्यार्थी निर्धारित समय पर एकत्र होकर विद्यालय मैदान में खेलकूद का अभ्यास कर सकते हैं। इसके लिए पर्याप्त संभावनाएं हैं जैसा कि हमारे ग्रामीण क्षेत्रों में कम सुविधाओं के बाद भी बच्चे खेलकूद की प्रैक्टिस करते हैं या शहरी क्षेत्रों में बच्चे पार्क या खेल मैदान जैसे सार्वजनिक स्थलों पर भी खेल खेलते देखे जा सकते हैं।

खेल प्रतियोगिता के लिए टीम का गठन

विद्यालय खेल प्रतियोगिता के लिए विद्यालय में विभिन्न कक्षाओं के विद्यार्थियों में से आयु वर्ग एवं शारीरिक क्षमता के आधार पर ग्रुप बनाकर खेल टीम का गठन करना चाहिए। खेल टीम का गठन करते समय विद्यार्थी की खेल में रूचि और कुशलता का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

विभिन्न टीमों को A,B,C नाम या अन्य प्रेरणादायक नाम देना चाहिए। टीम का नाम महापुरुषों या प्रेरणादायक खिलाड़ियों के नाम पर रख सकते हैं।

प्रत्येक टीम में कम कुशल, मध्यम श्रेणी एवं खेलों में अच्छी कुशलता प्राप्त सभी प्रकार के मिश्रित खिलाड़ी होने चाहिए। कोई भी टीम बहुत कमजोर या बहुत कुशल खेलने वाले खिलाड़ियों से नहीं होनी चाहिए बल्कि एक टीम में सभी प्रकार के खिलाड़ियों को जगह देकर सभी विद्यार्थियों की इच्छा एवं योग्यता से उनको समानता प्राप्त होगी। बाद में अच्छा खेलने वाले खिलाड़ियों में से टीम बनाकर ब्लॉक या राज्य स्तर की खेल प्रतियोगिता के लिए तैयार कर सकते हैं।

विद्यालय में खेल प्रतियोगिता की तैयारी

विद्यालय में आयोजित खेल प्रतियोगिता की सभी गतिविधियों एवं क्रियाकलापों को विद्यालय खेल प्रतियोगिता प्रतिवेदन में पढ़कर भी आप सभी संभावित तैयारियों की रूपरेखा बना सकते हैं।

विद्यालय में आयोजित की जाने वाली खेल प्रतियोगिता की पूर्व तैयारी के अंतर्गत खेल मैदान का चयन, खेलों के लिए पर्याप्त खेल सामग्री का क्रय करना, खेल टीमों का गठन करना, प्रतियोगिता में आयोजित मैच की तिथि एवं समय निर्धारित करना, प्रतियोगिता के लिए विजेताओं के निर्धारण के लिए दक्ष प्रशिक्षकों का पैनल बनाना, अवार्ड की घोषणा आदि क्रियाएं सम्मिलित हैं।

पूर्व सुनियोजित योजना के अनुसार निर्धारित तिथि को खेल प्रतियोगिता के आयोजन के उद्घाटन समारोह एवं खेल प्रतियोगिता के समापन समारोह और उसके बाद तक के सभी कार्यक्रमों का विद्यालय में उपलब्ध संसाधनों, परिस्थितियों तथा मौसम आदि के अनुसार निर्धारण किया जाना चाहिए।

विद्यालय में खेल प्रतियोगिता का प्रतिवेदन तैयार करना

विद्यालय में खेल कूद प्रतियोगिता के आयोजन से संबंधित प्रतिवेदन तैयार करने के लिए कहा जाता है। यहां पर आप विद्यालय में आयोजित वार्षिक खेल कूद प्रतियोगिता का प्रतिवेदन लिखना सीखेंगे। अक्सर विद्यार्थियों से भी कहा जाता है कि आप अपने विद्यालय में आयोजित खेल प्रतियोगिता के संबंध में एक प्रतिवेदन तैयार कीजिए।

खेल प्रतिवेदन विद्यालय में खेल प्रतियोगिता के आयोजन की शुरुआत से लेकर समापन तक की सभी गतिविधियों एवं कार्यकलापों का सारांश होता है। विद्यालय खेल प्रतियोगिता प्रतिवेदन तैयार करने से पूर्व सभी कार्यक्रमों की रूपरेखा और संचालन को संक्षिप्त में कच्चे कागज पर लिखें में तत्पश्चात उसे नीचे दिए गए तरीके के अनुसार और यथासंभव अपने विद्यालय की खेल प्रतियोगिता के अनुसार संशोधित करके विद्यालय खेल प्रतिवेदन तैयार करें।

विद्यालय में खेल प्रतियोगिता प्रतिवेदन का उदाहरण

वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता प्रतिवेदन -2022(29 अगस्त से 1 सितंबर 2022)

राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय ग्राम मानगढ़ तहसील श्रीमाधोपुर जिला सीकर में दिनांक 29 अगस्त 2022 को खेल दिवस से पांच दिवसीय वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता 2022 का श्रीमान उप जिला मजिस्ट्रेट द्वारा ध्वजारोहण के साथ शुभारंभ हुआ।

आज दिनांक 29 अगस्त को वार्षिक खेल प्रतियोगिता 2022 के उद्घाटन समारोह का आयोजन स्थानीय विद्यालय में मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथि, खेल समिति के पदाधिकारियों खिलाड़ियों तथा अभिभावक गण की उपस्थिति में किया गया।

उद्घाटन समारोह में संस्था प्रधान प्रधानाचार्य अभिभावक गण एवं स्थानीय जनप्रतिनिधि तथा खेल समिति अध्यक्ष ने प्रतियोगियों सहित मुख्य अतिथि श्रीमान प्रभाकर जी का प्रवेश द्वार पर स्वागत किया गया।

मुख्य अतिथि महोदय तथा खेल प्रतियोगिता संयोजक महोदय से वार्षिक खेल समिति सदस्यों, प्रतियोगिता में निर्णायक का दायित्व निर्वाह करने वाले निर्णायक मंडल तथा विद्यालय कार्मिकों से परिचय किया गया।

विद्यालय मंच पर विराजमान मां सरस्वती के समक्ष मुख्य अतिथि एवं प्रधानाचार्य द्वारा दीप प्रज्वलन और माल्यार्पण एवं सरस्वती वंदना के साथ वार्षिक खेल प्रतियोगिता का खेल ध्वजारोहण के साथ शुभारंभ किया गया। खेल समिति एवं विद्यालय कार्मिकों द्वारा मुख्य अतिथि तथा प्रबुद्ध जनों का माल्यार्पण के साथ स्वागत किया गया।

शाला खेल मैदान पर पधारे हुए मुख्य अतिथि, प्रतिभागियों एवं अभिभावक गण तथा दर्शकों के समक्ष विद्यालय की बालिकाओं ने स्वागत गान का प्रस्तुतीकरण किया। श्रीमान प्रधानाचार्य ने वार्षिक खेल प्रतियोगिता 2022 का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।

मुख्य अतिथि महोदय ने वार्षिक खेल प्रतियोगिता के अवसर पर उद्घाटन समारोह में बोलते हुए जीवन में खेलों का महत्व, आधुनिक समय में उपस्थित हो रही मानसिक व शारीरिक दुर्बलताओं को किस प्रकार खेलों द्वारा समाप्त किया जा सकता है, खेल जोड़ते हैं, खेल मैत्री पूर्ण प्रतियोगिता का मार्ग दिखाती है। खेल सामाजिक सद्भाव एवं सामाजिक समरसता में अहम भूमिका निभाते हैं और हमें खेलों से जुड़े रहना चाहिए तथा विद्यार्थियों को खेलों में मैत्री भावना के साथ पूर्ण प्रतियोगिता के लिए उत्साहित और प्रेरित करना चाहिए,जैसे विचार व्यक्त किए।उपर्युक्त स्वागत आदि कार्यक्रम के बाद खेलों की शुरुआत की गई।

वार्षिक खेल प्रतियोगिता 2022 में स्थानीय विद्यालय तथा पंचायत स्तर के समीपस्थ विद्यालयों की कुल 20 टीमों ने हिस्सा लिया।

  1. कबड्डी बालिका-कुल 5 टीम
  2. कबड्डी पुरुष-कुल 4 टीम
  3. खो-खो प्रतियोगिता-पुरुष 3 टीम
  4. क्रिकेट प्रतियोगिता पुरुष-3 टीम
  5. वॉलीबॉल प्रतियोगिता बालिका-2 टीम
  6. फुटबॉल प्रतियोगिता पुरुष-3 टीम

इन सभी टीमों में आपस में प्री सेमी फाइनल तथा अंतिम दो टीमों के बीच फाइनल मैच का आयोजन किया गया। फाइनल मैच में विजेता और उपविजेता टीमों की घोषणा की गई तथा विजेता टीम का चयन ब्लॉक स्तर पर वार्षिक खेल प्रतियोगिता के लिए किया गया।

वार्षिक खेल प्रतियोगिता समापन समारोह प्रतिवेदन

समापन समारोह अर्थात वार्षिक खेल प्रतियोगिता के अंतिम दिन समापन समारोह में उपस्थित मुख्य अतिथि एवं अन्य प्रबुद्ध जनों का प्रधानाचार्य द्वारा स्वागत एवं उद्बोधन किया गया। आज के समापन समारोह में विद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा रोचक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का प्रस्तुतीकरण अतिथियों, खेल प्रतिभागियों और दर्शकों के समक्ष किया गया।

सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा अंतिम प्रतियोगिता के बाद विशिष्ट अतिथि द्वारा खेलों का महत्व, खेलों से जीवन में प्रेरणा, सामाजिक सद्भाव, प्रतियोगिता पूर्ण होने, विजेताओं को पुरस्कार प्रदान करने के बाद मुख्य अतिथि महोदय द्वारा वार्षिक खेल प्रतियोगिता 2022 के समापन की घोषणा की गई। प्रतियोगिता समापन की घोषणा के उपरांत खेल ध्वज का सम्मान ध्वजावतरण कर ध्वज संगरक्षक को ध्वज समर्पित किया गया।

अंत में विद्यालय के प्रधानाचार्य ने वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता 2022 में भाग लेने वाले प्रतिभागियों विजेता तथा हारने वाली टीमों के लिए सकारात्मक संदेश दिया एवं पधारे हुए अतिथि तथा कार्यक्रम में सहयोग करने वाले कार्मिकों, निर्णायक मंडल, खेल समिति सदस्यों, विद्यार्थियों तथा अन्य जनों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

अंत में सभी ने राष्ट्र ध्वज के सम्मान में खड़े होकर राष्ट्रगान गाया। राष्ट्रगान के साथ ही विद्यालय में संपन्न वार्षिक खेल प्रतियोगिता 2022 का समापन हुआ।

तो इस तरह से आप विद्यालय में खेल प्रतियोगिता का सफल आयोजन कर सकते हैं। यदि आपको विद्यालय में संपन्न खेलकूद प्रतियोगिता का प्रतिवेदन तैयार करना है तो आप ऊपर वर्णित प्रतिवेदन के आधार पर अपने विद्यालय में आयोजित वार्षिक खेल प्रतियोगिता का प्रतिवेदन तैयार कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें,

विद्यालय में एन्यूवल फंक्शन वार्षिक उत्सव पर प्रतिवेदन

वार्षिक उत्सव पर मंच संचालन के लिए एंकरिंग और शायरी की PDF स्क्रिप्ट हिंदी में